वन एवं वन्यजीव संरक्षण में जन समुदाय की सहभागिता : एक भौगोलिक सर्वेक्षण जालोर जिले के अमृता देवी वन्य जीव उद्यान – धमाणा का गोलिया के विशेष सन्दर्भ में

Siddhartha Kumar Gaurav, Dr. Shivani Swarnkar

Abstract


शोध सारांश

भारत जैव विविधता के सन्दर्भ में सम्पूर्ण विश्व में एक विशिष्ट तथा समृद्धशाली देश हैं। जहां बड़ी संख्या में देशज तथा विदेशी प्रजातियों के प्राणीजात एवं वनस्पतिजात पाये जाते हैं। लेकिन पिछले कुछ वर्षों में जन समुदाय की असंवेदनशीलता के कारण इनका तीव्रता से ह्रास हो रहा हैं। इनमें से कई प्रजातियाँ ऐसी हैं जो विलुप्ति की कगार पर हैं तथा कुछ प्रजातियाँ इतनी नाजुक अवस्था में हैं कि उनके विलुप्त होने का खतरा मंडरा रहा हैं। अत: इस विलुप्त होती जैव विविधता को बचाने में जनसमुदाय का सहयोग होना महत्वपूर्ण हो जाता हैं। हमारे देश में विभिन्न पर्यावरणीय आंदोलनों में आम जन की भागीदारी के परिणामस्वरूप ही भारत की संसद को 1972 वन्य जीव संरक्षण अधिनियम-1972 पारित करना पड़ा। प्रस्तुत शोध पत्र में वन्य जीवों को बचाने हेतू कार्यरत अमृता देवी वन्य जीव संरक्षण उद्यान धमाणा का गोलिया में जनसमुदाय की सहभागिता का अध्ययन किया गया हैं। यह उद्यान राजथान के जालोर जिले के धमाणा का गोलिया गाँव में राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 68 पर स्थित हैं । इस उद्यान में जन समुदाय द्वारा सैकड़ों हिरण,नीलगाय, खरगोश, बन्दर, तथा मोर को घायल अवस्था से बचा कर देश के अन्य समुदायों के लिए मिशाल कायम की हैं । इन सभी वन्यजीवों  को  ग्रामीण  समुदाय  द्वारा गम्भीर घायलावस्था से बचाया गया हैं।


Keywords


शब्द :- जैव विविधता, वन, वन्य जीव, समुदाय, प्राणिजात, वनस्पतिजात, संरक्षण, अधिनियम

Full Text:

PDF

References


सन्दर्भ ग्रन्थ सूची

Michael, L. And Others. (2014). Community Participation in Wildlife Conservation In Amboseli Ecosystem, Kenya IOSR Journal of Environment Science, Toxicology And Food Technology. Vol. 28 (4) pp. 68-75

Sekhar, N. U.(2003). Local People’s Attitudes toward Conservation and Wildlife Tourism Around Sariska Tiger Reserve, India. Journal of Environment Management. Vol.69(4). pp 339-347

Rastogi, A.(2015). Wildlife Tourism, Local Communities and Tiger Conservation: A Village-Level Study In Corbett Tiger Region, India. Forest Policy and Economics. Vol. 61 pp. 11-19

Badola, R. And Hussain, S.A. (2012). Attitudes of Local Communities towards Conservation of Mangrove Forests: A Case Study from the East Coast of India. Estuarine, Coastal and Self Science. Vol. 96 pp.186-196

Infield, Mark. (1989). Attitudes of A Rural Community Towards Conservation And Local Conservation Area In Natal South Africa. Biological Conservation. Vol. 45(1), pp. 21-46

राजस्थान पत्रिका, जालोर संस्करण, 17 अगस्त, 2017


Refbacks

  • There are currently no refbacks.